दर्द को दर्द का मरहम दे दे

दर्द को दर्द का मरहम दे दे
ऐ मौत न आने की क़सम दे दे

लगन यार की मन से जाये ना
दिल की तड़प काम आये ना
नहीं आता तो आने का वहम दे दे

मैं बिखर गया तेरे जाने के बाद
जाना प्यार तुझे खोने के बाद
मिलने का कोई वादा सनम दे दे

ऐ मौत न आने की क़सम दे दे…

मसला मुझे विरह की रातों ने
तोड़ा-जोड़ा मुझे बीती बातों ने
मेरी रूह को चैन हमदम दे दे

यह ख़ुमार अब आठों पहर है
ज़िन्दगी जैसे कोई ज़हर है
मुझको वही ख़ुशी का मौसम दे दे

ऐ मौत न आने की क़सम दे दे…


शायिर: विनय प्रजापति ‘नज़र’
लेखन वर्ष: २००४

Published by

Vinay Prajapati

Vinay Prajapati 'Nazar' is a Hindi-Urdu poet who belongs to city of tahzeeb Lucknow. By profession he is a fashion technocrat and alumni of India's premier fashion institute 'NIFT'.

7 thoughts on “दर्द को दर्द का मरहम दे दे”

  1. विरह की बेहद खूबसूरत रचना है…बधाई…शब्द चयन और भावः दोनों लाजवाब हैं…..लिखते रहिये.
    नीरज

  2. मैं बिखर गया तेरे जाने के बाद
    जाना प्यार तुझे खोने के बाद
    मिलने का कोई वादा सनम दे दे

    ऐ मौत न आने की क़सम दे दे…

    मसला मुझे विरह की रातों ने
    तोड़ा-जोड़ा मुझे बीती बातों ने
    मेरी रूह को चैन हमदम दे दे

    dil ko chu gai hain paktiyan

  3. आपकी सराहना और प्रेम का हर क़तरा अनमोल है मेरे लिए, धन्यवाद!

  4. मसला मुझे विरह की रातों ने
    तोड़ा-जोड़ा मुझे बीती बातों ने
    मेरी रूह को चैन हमदम दे दे

    यह ख़ुमार अब आठों पहर है
    ज़िन्दगी जैसे कोई ज़हर है
    मुझको वही ख़ुशी का मौसम दे दे

    waah bahut hi badhiya dil ke jazbat baan huye hai,sundar

  5. maut ko aana hai, use jindagi se apna wada nibhana hai
    har dard marham ban shakta, par maut ka aana na tal sakta
    ye duniya ka dastoor pura hai,jindagi ko to maut ke saath jana hai
    ab yado ko unki bhula do, ab apne jisam ko aur na saja do
    samjhe dost.. ab phir se naya saaj goon_goona do
    ha ha…hhaa……hi..hi.hiiii… jindagi maut sung chali
    todh ke mausham ki ladhi.. bas jhoom ke wo to chali…..
    kuch kisshe kuch wade, apne kuch nate..
    chodh _chodh.matak_ latak bhool duniya ki gali..bas chali iiiiii…he ho heee hoon hoo……la tak tak tak chali ..chali chali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *